चिट्ठा हो रहा तैयार: नगर निगम के बनवाए नए चौराहों के एवज में ठेकेदार से रिकवरी का

30 से 35 लाख रुपए तक वसूले जा सकते हैं ठेकेदार से

सिटी न्यूज7, पंचकूला। नगर निगम शहर में बनवाए गए 8 नए चौराहों के एवज में सरकारी खजाने को हुए नुकसान की भरपाई के लिए इन दिनों संबंधित ठेकेदार से लाखों रुपए की वसूली का चिट्ठा तैयार कर रहा है। इसके लिए निगम के कमिश्नर राजेश जोगपाल के निर्देश पर विभागीय स्तर पर कमेटी बनी हुई, जो रिकवरी का चिट्ठा फाइनल करने में जुटी है।
जानकारी के अनुसार, निगम संबंधित ठेकेदार से 30 से 35 लाख रुपए तक की वसूली कर सकता है। संभव है कि यह रकम कुछ कम या ज्यादा भी हो जाए। फिलहाल फाइल कुछ चौराहों के बीच लगे फव्वारों की कीमत और क्वालिटी को लेकर लंबित है। जाहिर है कि अगले कुछ दिनों में फाइल रिकवरी के लिए सक्षम अथॉरिटी के पास अप्रूवल के लिए भेज दी जाएगी।
याद दिला दें कि नगर निगम ने 2.80 करोड़ रुपए की लागत से शहर में पुराने बने 8 चौराहे नए सिरे से बनवाए हैं। काम फाइनल होने से पहले ही चौराहों मे ंइस्तेमाल मैटीरियल की क्वालिटी को लेकर बवाल मच गया और हरियाणा सरकार के स्तर पर तो तीन मेंबरी कमेटी से जांच कराई ही गई, निगम के कमिश्नर राजेश जोगपाल ने भी विभागीय स्तर पर जांच करवा ली। सरकार की रिपोर्ट तो अभी सार्वजनिक नहीं हुई लेकिन जोगपाल ने विभागीय जांच के आधार पर अनुबंध आधार पर काम कर रहे कुछ कर्मचारियों/ अधिकारियों की सेवाएं समाप्त कर दीं और सरकार से कह कर कुछ सीनियर अधिकारियों का तबादला करवा दिया और कुछ अपना तबादला खुद करवा गए। इसी बीच जोगपाल ने चौराहों के एवज में ठेकेदार को किए गए भुगतान व मौके पर मिली मैटीरियल की क्वालिटी आदि को देखते हुए रिकवरी के आदेश दे दिए थे।
निगम ने 2.80 करोड़ रुपए का दिया था ठेका। काम अभी अधर में ही था कि मैटीरियल की गुणवत्ता और रेट्स को लेकर बवाल मच गया। सरकार ने तो जांच कराई ही, निगम ने भी जांच कराई

error: Content is protected (Copyright)