पंचकूला: कोविड 19 से जारी जंग में हरियाणा ने शुक्रवार को बड़ा मुकाम हासिल कर लिया। प्रदेश की राजधानी से सटे पंचकूला में प्रदेश का पांचवां प्‍लाज्‍मा सेंटर स्‍थापित कर दिया गया है। विधानसभा अध्‍यक्ष ज्ञान चंद गुप्‍ता ने शुक्रवार को इस सेंटर का उद्घाटन किया। सेंटर के उद्घाटन के साथ ही यहां प्‍लाज्‍मा दान करने का सिलसिला भी शुरू हो गया। राजीव कॉलोनी निवासी एक दुकानदार ने पहले ही दिन स्‍वेच्‍छा से प्‍लाज्‍मा दान किया।

विधानसभा अध्‍यक्ष ज्ञान चंद गुप्‍ता ने बताया कि पंचकूला जिले में पिछले कुछ दिनों से कोविड 19 संक्रमित मरीजों की संख्‍या में बढ़ौतरी हुई है। अभी तक यहां ऑक्‍सीजन और स्‍टीरॉयड प्रणालियों से उपचार हो रहा था, लेकिन गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों के उपचार में ये दोनों ही प्रणाली कारगर साबित नहीं होती। इसके लिए प्‍लाज्‍मा थैरेपी की आवश्‍यकता रहती है। गुप्‍ता ने कहा कि पंचकूला में प्‍लाज्‍मा केंद्र बनने से अनेक कीमती जानें बचाईं जाएंगी। इसके लिए उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रदेश के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल और केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का विशेष रूप से आभार व्‍यक्‍त किया।

गौरतलब है कि प्‍लाज्‍मा थैरेपी कोविड 19 के उपचार में अभी तक की सबसे असरदार प्रणाली साबित हुई है। इस थैरेपी से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों का उपचार किया जाता है। चिकित्‍सीय अनुसंधानों से प्रमाणित हुआ है कि किसी भी व्‍यक्‍ति में जब कोविड 19 का संक्रमण होता है तो शरीर स्‍वत: कुछ रोग प्रतिरोधक तत्‍व बना लेता है। इनमें प्रमुख रूप से आईजीजी नाम के एंटी बॉडीज होते हैं जो कोविड 19 से लड़ते हैं। डॉक्‍टरों के मुताबिक ये एंटी बॉडीज कोप्‍ला नामक कन्‍वेलेसेंट प्‍लाज्‍मा में होते हैं।

पंचकूला के सिविल अस्‍पताल में कंसल्‍टेंट डॉ. सरोज अग्रवाल के मुताबिक कोप्‍ला नामक एंटी बॉडीज व्‍यक्‍ति को कोरोना से बचाने के बाद भी उसके शरीर में रहता है। इसे 28 दिन बाद दूसरे मरीज के लिए प्रयोग किया जा सकता है। प्‍लाज्‍मा थैरेपी में आईजीजी नाम के एंटी बॉडीज युक्‍त प्‍लाज्‍मा को ही दूसरे मरीज में चढ़ाया जाता है, जिससे वह भी ठीक हो जाता है। प्‍लाज्‍मा सेंटर में प्‍लाज्‍मा को माइनस 40 डिग्री तापमान पर रखा जाता है। इसके बाद इसे एक साल तक प्रयोग में लाया जा सकता है।

पंचकूला में स्‍थापित प्‍लाज्‍मा केंद्र के लिए शुक्रवार को राजीव कॉलोनी निवासी दुकान गुलशन कुमार ने स्‍वेच्‍छा से प्‍लाज्‍मा दान किया। विधानसभा अध्‍यक्ष ज्ञान चंद गुप्‍ता ने कहा कि हमें ऐसे जिम्‍मेदार नागरिकों पर गर्व है, जो स्‍वयं स्‍वस्‍थ होने के बाद दूसरों के कल्‍याण के लिए आगे आए हैं। उन्‍होंने कहा कि गुलशन कुमार से दूसरे लोगों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए। इस मौके पर पंचकूला की सिविल सर्जन डॉ. जसजीत कौर, भाजपा नेता कुलभूषण गोयल, पीएमओ डॉ. सरिता यादव सहित अनेक डॉक्‍टर एवं गणमान्‍य नागरिक उपस्‍थित रहे।

निजी अस्‍पताल में 8500 रुपये फीस, सरकारी में मुफ्त होगा उपचार : प्‍लाज्‍मा थैरेपी से उपचार करवाने की निजी अस्‍पताल में सरकार द्वारा 8500 रुपये फीस निर्धारित की गई है। लेकिन यही उपचार सरकारी अस्‍पताल में मुफ्त होगा। इससे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। गौरतलब है कि अभी तक हरियाणा में के रोहतक, गुरुग्राम, फरीदाबाद में ही प्‍लाज्‍मा केंद्र स्‍थापित हैं। इस प्रकार की सुविधा वाला पंचकूला पांचवां जिला बना गया है। यहां पंचकूला, अंबाला, कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, करनाल और कैथल जिलों के मरीजों का उपचार हो सकेगा।