मंगलवार की सुबह फिर 5 नए पॉजिटिव मरीज मिल गए। कोरोना लगातार शहर को अपनी गिरफ्त में लेता जा रहा है। तीन दिनों में 20 कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से स्वास्थ्य विभाग से लेकर प्रशासन के अधिकारियों में खलबली गच गई है। खास बात यह है कि कोरोना का वायरस अब शहर के प्रमुख अस्पतालों और फ्रंट लाइन वॉरियर्स तक पहुंच गया है। ऐसे में प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है। मंगलवार सुबह मिले नए मरीजों में चार महिलाएं व एक पुरुष शामिल है।

53 वर्षीय महिला, 62 वर्षीय पुरुष, 27 वर्षीय महिला, 35 वर्षीय महिला, व 23 वर्षीय महिला को कोरोना हुआ है। यह सभी सेक्टर 30 के निवासी हैं। इससे पूर्व सोमवार को नौ और रविवार को छह मरीज मिलने से शहर में हड़कंप मच गया था। सोमवार तक शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 45 हो गई थी। मंगलवार को सुबह संख्या बढ़कर 50 हो गई।

जीएमसीएच बना नया ‘हॉटस्पॉट’ 3 डॉक्टर, वार्ड ब्वॉय समेत 9 पॉजिटिव
जीएमसीएच-32 अब कोरोना का नया गढ़ बनता जा रहा है। सोमवार को अस्पताल के तीन डॉक्टरों, एक वार्ड ब्वॉय समेत शहर में कुल नौ पॉजिटिव मरीज मिले थे। इससे पहले रविवार को छह पॉजिटिव मरीज मिले थे, जिनमें से दो जीएमसीएच के हेल्थकर्मी थे। बाकी अस्पताल के ही एक अन्य वार्ड अटेंडेंट के परिजन थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब इन मरीजों को पीजीआई शिफ्ट किया गया।

सोमवार को जो मरीज पॉजिटिव पाए गए उनमें गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच-32) के एनेस्थीसिया विभाग के दो डॉक्टरों के अलावा 27 वर्षीय एक महिला डॉक्टर शामिल है। बापूधाम निवासी वार्ड ब्वॉय के अलावा बापूधाम में ही रहने वाला हरियाणा सचिवालय में कार्यरत कर्मचारी, 28 वर्षीय रामदरबार निवासी युवक, 19 वर्षीय सेक्टर 52 निवासी युवती, 41 वर्षीय सेक्टर-30 निवासी पुरुष और 65 वर्षीय सेक्टर-30 निवासी महिला शामिल हैं।

बता दें कि शहर में 21 अप्रैल से 23 अप्रैल के बीच एक पॉजिटिव केस नहीं आया था। इसलिए कयास लगाए जाने लगे थे कि अब कर्फ्यू में कुछ राहत मिलेगी, लेकिन रविवार, सोमवार और मंगलवार को बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीजों के मिलने के बाद राहत की उम्मीद टूट गई है। अब अधिकारियों का पूरा ध्यान किसी तरह पॉजिटिव मरीजों की संख्या रोकने पर है।