एसडीओ एन्फोर्समेंट योगेश कुमार, को नहीं दिखती एन्क्रोचमेंट…. या नीयत नहीं

शहर में एन्क्रोचमेंट बहुत और यह स्थानीय विधायक ज्ञानचंद गुप्ता, ‘सरकार’ के संज्ञान में भी ला चुके हैं। गुप्ता ने कई दिन पहले एन्क्रोचमेंट हटाने में इस्टेट ऑफिस के स्टाफ की ‘मनमर्जीÓ बरतने संबंधी शिकायत टाउन प्लानिंग विभाग के प्रधान सचिव एके सिंह से की और तब इस्टेट ऑफिस से कई बाबुओं का तबादला हुआ था। वे जिले के डीसी मुकेश आहूजा को लिखित रूप में आग्रह कर चुके हैं कि बतौर ‘नोडल एजेंसीÓ काम करते हुए वे एक कमेटी का गठन करें, जो शहर में एन्क्रोचमेंट को रेगुलर हटाए।

सिटी न्यूज7, पंचकूला। योगेश कुमार, रिटायर्ड एसडीओ को इस्टेट ऑफिस पंचकूला में विशेष नियमों के तहत एसडीओ एन्फोर्समेंट की नियुक्ति मिली है। पंचकूला सिटी न्यूज7 की ओर से बधाई हो। शहरवासियों को उम्मीद करनी चाहिए कि योगेश कुमार अपनी पोस्टिंग को सार्थक करते हुए शहर में एन्क्रोचमेंट पर रेगुलर ‘हल्लाबोलÓ अभियान चलाएंगे। या फिर…यही होगा कि एन्क्रोचमेंट को नजरंदाज करते हुए सिर्फ टाइम पास करेंगे और जब तक नौकरी रहेगी,  सरकारी खजाने से वेतन लेंगे और जब हटा दिए जाएंगे तो बैरंग घर लौट जाएंगे।
बताना जरूरी है कि योगेश कुमार पहले भी इस्टेट ऑफिस में रहे और उन्हें बीते अर्से में इस्टेट ऑफिसर आशुतोष राजन ने हटा दिया और साथ ही एन्फोर्समेंट विंग के अन्य अनुबंधित करीब 15 कर्मचारियों की सेवाएं भी समाप्त कर दी थीं, महज इसी बात के लिए कि वे सब वेतन लेकर भी कुछ कर नहीं रहे थे।
अब देखने वाली बात है कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने फिर से एसडीओ योगेश कुमार पर भरोसा जताया है। वे पिछले कई सालों से शहर में ही इंजीनियरिंग विंग के खाते से पोस्टेड रहे और एन्क्रोचमेंट के दायरे से अच्छी तरह वाकिफ हैं। जाहिर है कि अब योगेश कुमार की नीयत पर निर्भर करता है कि वे शहर में मौजूदा एन्क्रोचमेंट को हटाने और आगे लिए न होने देने को कितनी संजीदगी से लेते हुए शहरवासियों को रिजल्ट देते हैं।

error: Content is protected (Copyright)