एचएसवीपी के चीफ आर्किटेक्ट एचआर यादव ने बनाया ‘आशियाना फ्लैट्स का बेमिसाल डिजाइन

करोड़ों रुपए बचेंगे गरीबों के

* हरियाणा सरकार को भाया एचआर यादव का बनाया डिजाइन। इसे रिकमेंड किया गया है ‘पीएम आवास योजनाÓ के तहत देशभर में बनने वाले 2 करोड़ फ्लैट्स के लिए।
* डेवलपर्स ने प्रोपोज्ड कॉस्ट निकाली थी 9.5 लाख रुपए। यादव के डिजाइन से एचएसवीपी के इंजीनियर्स ने निकाली है 7.43 लाख।
* डेवलपर्स ने एक एकड़ में 35 वर्ग मीटर के डिजाइन किए थे 160 फ्लैट्स। यादव ने डिजाइन किए 264 फ्लैट्स, वो भी ज्यादा शानदार
* यादव का बनाया डिजाइन पहले पंचकूला के विधायक ज्ञानचंद गुप्ता और फिर एचएसवीपी के प्रधान सचिव एके सिंह को बहुत भाया
* हरियाणा सरकार चाहती है कि पंचकूला में गरीबों के बनने वाले सस्ते फ्लैट्स की तर्ज पर देशभर में भी हर गरीब परिवार के बचें लाखों
* चीफ आर्किटेक्ट एचआर यादव की डिजाइन कई बिल्डिंगें पहले भी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की करा चुकी हैं …बल्ले-बल्ले
पंचकूला। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण व पंचकूलावासियों को गर्व होना चाहिए अपने अनुभवी चीफ आर्किटेक्ट एचआर यादव पर, जिन्होंने पहले दिल जीता विधायक ज्ञानचंद गुप्ता का, फिर प्रधान सचिव अपूर्व कुमार सिंह और बाद में हरियाणा सरकार का।
जानकारी के अनुसार, हेम राज यादव ने ‘आशियानाÓ स्कीम के तहत गरीबों के लिए पंचकूला के सेक्टर 20 और 28 में तकरीबन 35 एकड़ में बनने जा रहे करीब 7500 फ्लैट्स का ऐसा डिजाइन तैयार किया, जो हरियाणा सरकार को इस कदर पसंद आया कि उसे ‘पीएम आवास योजनाÓ के लिए देशभर में अमल में लाने के लिए भारत सरकार को भेजा गया है।
यानी, हरियाणा सरकार चाहती है कि उनके चीफ आर्किटेक्ट एचआर यादव के बनाए डिजाइन को देशभर में अपनाया जाए। वजह ये है कि यादव ने एक एकड़ में 264 फ्लैट्स डिजाइन किए, जबकि डेवलपर्स 160 ही करते आए हैं। इतना ही नहीं, डेवलपर्स ने जिन दो कमरों वाले फ्लैट्स की प्रोपोज्ड कीमत 9.5 लाख रुपए निकाली थी, यादव के बनाए डिजाइन को एचएसवीपी के इंजीनियर्स ने 7.43 लाख रुपए में तैयार करना माना है। सीधे तौर पर प्रति लाभपात्र परिवार 2 लाख 7 हजार रुपए बचेंगे। लिहाजा, 7500 फ्लैट्स के एवज में 150 करोड़ रुपए से ज्यादा बचेंगे।
जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत देशभर में 2 करोड़ से ज्यादा फ्लैट्स बनने हैं। अगर यादव का बनाया डिजाइन भारत सरकार भी स्वीकार कर लेती, तो अंदाजा लगाइए कि दो करोड़ परिवारों के 4 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा पैसा बचेगा, जो बहुत बड़ी बात होगी।
हरियाणा सरकार को यूं भाया एचआर यादव का डिजाइन:
डेवलपर ने दो कमरे वाला फ्लैट डिजाइन किया था। यादव ने ज़ीरो सर्कुलेशन के साथ दो की जगह तीन कमरों वाला फ्लैट डिजाइन किया। हरेक फ्लैट को फ्रंट और बैक से वेंटिलेशन, फ्लैट के अंदर वॉशबेसिन तक की सुविधा भी दी। एक कमरे लायक बालकनी भी डिजाइन की है।
और… तो और, यादव ने आशियाना फ्लैट्स में रहने वालों को दुख-सुख के आयोजनों के लिए 130 फीट लंबा और 42 फीट चौड़ा एक कोर्टयार्ड भी डिजाइन किया है, यह महसूस करते हुए कि गरीब लोग छोटे-बड़े आयोजनों के लिए बाहर किराए के कम्युनिटी सेंटर आदि का खर्च वहन नहीं कर पाएंगे।
पंचकूला में जो 7500 फ्लैट्स बनने जा रहे, इनका फाउंडेशन स्टोन बीते अर्से में मुख्यमंत्री हरियाणा रख चुके हैं। जानकारी के अनुसार, एचआर यादव के डिजाइन को पहले विधायक ज्ञानचंद गुप्ता और फिर  एचएसवीपी के मुख्य प्रशासक (तत्कालीन) डी. सुरेश और फिर प्रधान सचिव एके सिंह ने सराहा और यादव को शाबाशी देते हुए हायर अथॉरिटीज़ को रिकमेंड किया।
अब फैसला भारत सरकार के संबंधित मंत्रालय को लेना है कि एचआर यादव का डिजाइन देशभर में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हर जगह मान्य होगा या कुछ और बदलाव/सुझाव मिलते हैं।

error: Content is protected (Copyright)