Health Panchkula Special

डीजी हेल्थ ने दी मंजूरी, पंचकूला अस्पताल में कैथ लैब खोलने की

सस्ते में हार्ट के स्टंट भी डलेंगे और होगा बाकी इलाज भी

सिटी न्यूज7, पंचकूला। डीजी हैल्थ के आफिस ने पंचकूला के सिविल अस्पताल में पीपीपी मोड पर कैथ लैब खोलने को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी hospitalदे दी है। इसी के साथ ही अस्पताल की दूसरी मंजिल पर अगले 4-6 महीनों में कैथ लैब की सुविधा मिलने का रास्ता खुल गया है।
बता दें कि पंचकूला के सिविल अस्पताल में कैथ लैब यानी हार्ट के स्टंट डलने व अन्य बीमारियों के इलाज की सुविधा मिलना, जाहिर तौर पर शहर व आसपास के एरिया में रहने वाले हार्ट पेशेंट्स के लिए अच्छी खबर है। वजह साफ है कि सरकारी स्तर पर कार्डियो डिपार्टमेंट में सस्ते में इलाज मिलेगा। इस कैथ लैब में कार्डियोलॉजिस्ट भी उपलब्ध रहेगा। उसी की देखरेख में हार्ट पेशेंट्स को एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी जैसी जटिल सुविधाएं मिलेंगी। सिर्फ हार्ट सर्जरी नहीं हो पाएगी।
कैथ लैब पीपीपी (पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप) मोड पर शुरू होगी। इसके लिए फाइनेंशियल बिड्स पहले ही खुल चुकी हैं। अब इसपर हरियाणा सरकार की ओर से औपचारिक ‘मुहर’ लग गई है। डीजी हैल्थ डॉ. प्रवीण गर्ग के अनुसार, कैथ लैब साउथ की एक कंपनी ने स्थापित करनी है। इसके लिए औपचारिकताएं पूरी हो रही हैं। काफी काम होना है। कंपनी को अस्तपाल में मौके के अनुसार कुछ रेनोवेशन भी करनी होगी। उम्मीद कर सकते हैं कि अलगे चार-छह महीने में कैथ लैब स्थापित हो जाएगी और यह हरियाणा सरकार, हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से पंचकूला व आसपास के एरिया के लाखों परिवारों को बहुत बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है।
गौरतबल है कि अस्पताल प्रबंधन ने कैथ लैब के लिए दूसरी मंजिल पर जगह तय कर दी है। जैसी कैथ लैब पंचकूला में शुरू हो जा रही, वैसी ही हरियाणा सरकार अंबाला, गुड़गांव और फरीदाबाद में भी खोल रही है। पीपीपी मोड का फायदा यही है कि इस पर सारा निवेश वही कंपनी करेगी। यानी, सरकार की चवन्नी भी खर्च नहीं होगी और बल्ले-बल्ले सरकार की ही होगी।