पंचकूला नगर निगम की ढीली कार्यशैली से विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता खफा हैं। उनकी नाराजगी का आलम यह है कि शहर के विकास कार्य लटकाने वाले अफसरों और ठेकेदारों पर जल्द गाज गिर सकती है। सेक्टरों और गांवों के चल रहे विकास कार्यों की प्रगति जानने के लिए उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में अधिकारियों को दिए गए ब्योरे से वे संतुष्ट दिखाई नहीं दिए। इस पर उन्होंने नगर निगम के आयुक्त महावीर यादव और अधीक्षक अभियन्ता विजय गोयल को सख्त निर्देश दिए कि निगम की कार्यशैली को चुस्त कर विकास कार्यों को जल्द पूरा करवाएं। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार तय सीमा में कार्यों को पूरा नहीं कर रहे, उनसे काम लेकर ब्लैक लिस्ट किया जाए।
बैठक के दौरान शहर में बनाए जाने वाले बस क्यू शैल्टर, 3 फायर स्टेशनों, प्रवेश द्वारों का निर्माण और सौंदर्यीकरण, चौकों की साज-सज्जा, सड़कों व रोड गलियों की मरम्मत, सीवरेज पाइप लाइन के रखरखाव पर विस्तृत चर्चा हुई। इसके साथ ही विभिन्न गांवों में निर्माणाधीन सामुदायिक केंद्रों, स्वागत द्वारों, पशु अस्पतालों की प्रगति रिपोर्ट का भी पूरा ब्योरा मांगा।
ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि सकेतड़ी की मानव कॉलोनी से मंदिर तक जल्द से जल्द सड़क बनाई जाए। इस पर नगर निगम के अधिकारियों ने बजट की समस्या बताई तो उन्होंने अपने स्वेच्छिक अनुदान से इस कार्य को पूरा करने की हिदायत दी। साथ ही कहा कि किसी की प्रोजेक्ट के लिए धन की कमी आड़े नहीं दी जाएगी। बैठक के दौरान टोका गांव में बनने वाले स्वागत गेट का ब्योरा लिया गया तो निगम अधिकारियों ने बताया कि यहां बिजली निगम द्वारा बिजली की तार नहीं हटाए जाने के कारण कार्य शुरू नहीं किया जा सका। इस पर गुप्ता ने सख्ती दिखाई और कहा कि विकास कार्यों में सहयोग नहीं करने वाले बिजली निगम के कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए उन्होंने बिजली निगम के साथ किए गए पत्र व्यवहार का विवरण तलब किया है।
उन्होंने रामगढ़ में प्रस्तावित पशु अस्पताल की प्रगति रिपोर्ट भी मांगी। इस पर अधिकारियों ने बताया कि पशु पालन विभाग से अस्पताल का नक्शा मंगवाया गया है, नक्शा मिलते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद बिल्ला गांव की सीवरेज समस्या पर चर्चा हुई। गांव मानक्या, भानू, जसवंतगढ़, रामगढ़, कोट, खटौली, खंगेसरा, जलौली आदि गांवों में सामुदायिक भवनों और स्वागत द्वारों की प्रगति पर भी विस्तृत चर्चा की गई।
बैठक के दौरान सेक्टर 8 के घरों में पानी घुसने पर भी अधिकारियों से जवाब तलब किया गया। इस पर निगम के कार्यकारी अभियन्ता अंकित लोहान ने कहा कि सीवरेज लाइन में रुकावट की वजह से यह समस्या बनी है। इस पर गुप्ता ने कहा कि अगर वहां सीवरेज लाइन की मरम्मत नहीं हो पा रही है, तो तुरंत नई सीवरेज लाइन बिछाई जाए। बैठक में नगर निगम आयुक्त महावीर यादव, संयुक्त आयुक्त संयम गर्ग, अधीक्षक अभियन्ता विजय गोयल, कार्यकारी अधिकारी जरनैल सिंह, कार्यकारी अभियन्ता अंकित लोहान, संजीव गुप्ता, कनिष्ठ अभियन्ता राजेश चौहान और काशीराम उपस्थित रहे।
सेक्टर 19 का वेंडिंग जॉन में सजेगी सब्जी मंडी
विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने सेक्टर 19 में करोड़ों रुपये की लागत से तैयार किए गए वेंडिंग जॉन के चालू न किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि सेक्टर वासियों को सुविधा देने के लिए सरकार बड़ी रकम खर्च करके इस वेंडिंग जॉन का निर्माण करवाया है। वेंडिंग जॉन को चालू न किए जाने से जहां लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है, वहीं सरकारी धन की भी उपेक्षा हो रही है। उन्होंने कहा कि इस वेंडिंग जॉन को चालू करने के लिए अन्य अनाधिकृत स्थानों से रेहड़ी फड़ियों को हटाना पड़ेगा।
अवैध खनन पर शिकंजा कसने के निर्देश
सुखदर्शनपुर गांव और सेक्टर 27 व 28 के पंजाब सीमा से सटे क्षेत्रों में अवैध खनन पर विधान सभा अध्यक्ष ने संज्ञान लिया है। बैठक में उपस्थित अधिकारियों ने इस पर जवाब मांगा गया। गुप्ता ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि खनन कर्ताओं ने किसी अन्य साइट की अनुमति लेकर सुखदर्शनपुर की खसरा नंबर 48 पर भी अवैध तरीके से खनन शुरू कर दिया है। इसी प्रकार उन्होंने सेक्टर 27 और 28 के पास हो रहे खनन के लिए भी जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने अवैध खनन को सख्ती से रोकने के निर्देश दिए।