हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ने एचएसवीपी अफसरों के साथ की बैठक, विकास कार्यों को लेकर कड़े निर्देश

पंचकूला: शहर में लंबित विकास कार्यों को पूरा करने के लिए विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के अफसरों को कड़े निर्देश दिए हैं। विकास कार्यों की समीक्षा के लिए विधान सभा सचिवालय में आयोजित बैठक में शहर में जारी प्रोजेक्टों की प्रगति पर विस्तार से चर्चा हुई। इस दौरान अतिक्रमण हटाने, एचएसवीपी संपत्ति की नीलामी, धर्मार्थ संस्थानों के लिए निर्धारित साइटों की स्थिति पर भी चर्चा हुई।

विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि सेक्टर 23 में बनने वाले मैरिज पैलेस और उसके साथ लगते पार्क का निर्माण जल्द से जल्द पूरा किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने सेक्टर 24 और 26 के पास निर्माणाधीन घग्गर के पुल का विस्तार से ब्योरा लिया। गुप्ता ने कहा कि शहरवासी इस पुल के बनने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। यहां पुल न होने से लोगों को अपने गंतव्य तक जाने के लिए लंबा सफर तय करना पड़ रहा है। इसी प्रकार सेक्टर 28 में प्राइमरी स्कूल और सेक्टर 31 में सामुदायिक केंद्र के निर्माण में भी तेजी लाने के निर्देश दिए।

ज्ञान चंद गुप्ता ने शहर में हो रहे अतिक्रमण पर काफी सख्ती दिखाई दी। उन्होंने कहा कि एचएसवीपी की प्रत्येक संपत्ति से अवैध कब्जे हटा कर उनका ठीक से बंदोबस्त किया जाए। उन्होंने कहा कि सरकारी जमीन पर किसी भी प्रकार का अतिक्रमण सहन नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही शहर की मार्केटों में दैनिक स्तर पर होने अतिक्रमण को रोकने की हिदायत भी जारी की गई हैं। गुप्ता के मुताबिक कई स्थानों पर कोविड 19 प्रोटोकॉल की अनदेखी करते हुए बड़ी संख्या में विक्रेता और ग्राहक जुटते हैं, ऐसे में कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहता है। उन्होंने एचएसवीपी अफसरों को निर्देश दिए कि जहां सामान बेचने की अनुमति नहीं है, ऐसे स्थानों पर रेहड़ी फड़ी लगाने की अनुमति न दी जाए। इस पर एचएसवीपी अफसरों ने आश्वासन दिया कि अतिक्रमण हटाने के लिए रोजाना अभियान चलाया जाएगा। बैठक में एचएसवीपी के प्रधान सचिव अपूर्व कुमार सिंह, एचएसवीपी के मुख्य प्रशासक पंकज यादव, प्रशासक  महावीर कौशिक, इस्टेट ऑफिसर अनिल दून, अधीक्षक अभियन्ता संजीव चौपड़ा मौजूद रहे।

एचएसवीपी संपत्ति की कीमतें होंगी व्यावहारिक

बैठक के दौरान विधान सभा अध्यक्ष ने एचएसवीपी अफसरों को बताया कि शहर में अनेक स्थानों पर प्राधिकरण की ऐसी संपत्ति पड़ी जिससे सरकार का राजस्व बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बाजार की दरों की ज्यादा दाम होने के कारण इन संपत्तियों की नीलामी नहीं हो पा रही है। इसके लिए उन्होंने एचएसवीपी अधिकारियों से कहा कि इन संपत्तियों के दाम बाजार की मौजूदा दरों के अनुसार संशोधित किए जाए, ताकि इन्हें बेच कर एचएसवीपी का राजस्व बढ़ावा जा सके। इस राजस्व से शहर में विकास कार्यों को गति मिल सकेगी।

तय होगी ठेकों की जगह, ठेकेदार बदलने पर भी नहीं बदलेगी साइट

विधान सभा अध्यक्ष ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को निर्देश दिए कि शहर में शराब के ठेके के लिए स्थान चिह्नित करें। इन निर्धारित साइटों पर एचएसवीपी अपने खर्चे पर पक्के निर्माण करवाएं। ऐसा होने से अन्य किसी भी स्थान पर ठेकों का निर्माण व शराब की बिक्री नहीं की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि ठेकेदार के बदलने पर दूसरे ठेकेदार को यह स्थान अलॉट कर दिया जाएगा।