पंचकूला- फैमिली प्लानिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया पंचकूला शाखा ने आज एवोन प्रोजेक्ट के अंतर्गत लिंग आधारित हिंसा व कोविड 19 को लेकर फैमिली प्लानिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया पंचकूला शाखा के कार्यालय में आशा वर्कर्स के लिए एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री मनोज गर्ग शाखा महाप्रबंधक ने बताया कि फॅमिली प्लानिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया पंचकूला शाखा एवोन आइसोलेटेड नॉट अलोन प्रोजेक्ट के माध्यम से लिंग आधारित हिंसा व घरेलू हिंसा को दूर करने का एक महत्वपूर्ण प्रयास कर रही हैं । श्री मनोज गर्ग ने बताया कि घरेलू हिंसा की जड़ें हमारे समाज और परिवार में बहुत गहराई तक जमीं हैं। परिवार को तो महिलाओं के खिलाफ मानसिकता की पहली नर्सरी कहा जा सकता है। पितृसत्तात्मक सोच और व्यवहार परिवार में ही विकसित होता है और एक तरह से हमारे ढांचे में नथी है। लिंग आधारित हिंसा और घरेलू हिंसा ज़्यादातर महिलाएँ शादी बचाने के दवाब में चुपचाप सहन कर जाती हैं। हमारे समाज और परिवारों में भी विवाह और परिवार को बचाने के नाम पर इसे मौन या खुली स्वीकृति मिली हुई है। उन्होंने कहा कि लैंगिग न्याय व समानता को स्थापित करने में महिलाओं के साथ पूरे समाज की भूमिका बनती है, जिसमें स्त्री, परुषों और किशोर सब शामिक हैं। इस दिशा में व्यापक बदलाव के लिए जरूरी है कि पुरुष अपने परिवार और आसपास की महिलाओं के प्रति अपनी अपेक्षाओं में बदलाव लाएं।

डॉक्टर नितिका गोयल ने बताया कि इस प्रोजेक्त के माध्यम से हम अपने क्लिनिक एवम आउटरीच गतिविधियों की सहायता से लिंग आधारीत और घरेलू हिंसा को जड़ से मिटाने को प्रयासरत हैं। आज का यह कर्यक्रम भी इसी प्रयास का एक हिस्सा था