Panchkula

मेयर ने इमरजेंसी हाउस मीटिंग कॉल करने को कहा निगम कमिश्नर से

मामला राम-रहीम मामले में शहर को हुए नुकसान पर चर्चा का

सिटी न्यूज7, पंचकूला। नगर निगम की मेयर उपिंदर आहलुवालिया ने निगम कमिश्नर अशोक कुमार मीणा से इमरजेंसी हाउस मीटिंग कॉल करने को कहा है। यह मीटिंग विभिन्न पार्षदों के आग्रह पर बाबा राम रहीम को पंचकूला स्थित सीबीआई अदालत द्वारा यौन शोषण मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद शहर में हुए नुक्सान के मद्देनजर बुलाई जानी, ताकि निगम के स्तर पर निंदा प्रस्ताव पारित करने के साथ-साथ नुक्सान को कवरअप करने के बारे में उचित कदम उठाए जा सकें।

बकौल मेयर, निगम कमिश्नर से मौखिक तौर पर बात हुई है। उन्होंने अभी तारीख तो निश्चित नहीं की, लेकिन बातचीत में मीटिंग का एजेंडा पूछ लिया था। उन्हें बता दिया गया कि बीते 25 अगस्त को शहर में बहुत ज्यादा नुक्सान हुआ और इसमें काफी नुक्सान निगम की संपत्ति का भी हुआ है।

इसी तरह विभिन्न सरकारी महकमों और आम लोगों का पर्सनल नुक्सान भी हुआ है। इसी के मद्देनजर कई पार्षदों ने आग्रह किया है कि हाउस की मीटिंग जल्द बुलाई जाए ताकि नुक्सान कवरअप करने के लिए निगम स्तर पर पहले सर्वे और फिर राहत कार्य शुरू कराए जा सकें।

सड़कें बननी चाहिएं जल्द, पर अफसर बेपरवाह

बारिशों के मौसम ने शहर में सड़कों का बहुत नुक्सान किया, मगर संबंधित अफसर इसका संज्ञान नहीं ले रहे हैं। अफसरों को आम जनता के हितों का ध्यान रखते हुए तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। यह बात नगर निगम की मेयर उपिंदर आहलुवालिया ने बुधवार को पंचकूला सिटी न्यूज7 के साथ बातचीत में कही। उन्होंने शहर में तीन बड़ी सड़कों की स्पेशल  रिपेयर (अनुमानित लागत 21 करोड़ रुपए) की फाइनेंशियल बिड संबंधित एक्सईएन आॅफिस से क्लीयर न होने का जिक्र करते हुए कहा कि फाइल अर्से से पेंडिंग है। अमुक अधिकारी करीब 20 दिन से छुट्टी पर और अब निगम से पूरा वेतन न मिलने की शिकायत लेकर ‘नाराज़’ चल रहा है। यह अधिकारी किसी और महकमे से डेपुटेशन पर निगम में काम कर रहा, सो उसे वेतन निगम से सैंक्शन के  आधार पर दिया जाना, जबकि उसके मूल विभाग में वेतन ज्यादा मिलता होगा। इसी के चलते सड़कों फाइल पेंडिंग पड़ी  और मौके पर काम शुरू होने में देरी हो रही है।