छात्रवृति घोटालाः चंडीगढ़ समेत चार राज्यों के शिक्षण संस्थानों में सीबीआई के छापे

बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले की जांच में जुटी सीबीआई ने चंडीगढ़, हिमाचल, पंजाब और हरियाणा में 22 शिक्षा संस्थानों के ठिकानों पर छापे मारे। हिमाचल में शिमला, सिरमौर, ऊना, बिलासपुर, चंबा व कांगड़ा स्थित कई शिक्षण संस्थानों के अलावा करनाल, मोहाली, नवांशहर, अंबाला और गुरदासपुर में भी दबिश दी। इस दौरान टीमों ने उन संस्थानों से घोटाले से संबंधित दस्तावेजों को भी जब्त किया है। बताया जा रहा है कि इन दस्तावेजों में घोटाले के दौरान प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं के ब्योरे के अलावा प्रदेश व केंद्र सरकार से मिली वित्तीय सहायता का लेखा जोखा शामिल है।

बता दें कि जयराम सरकार ने अपने मंत्री रामलाल मारकंडा की शिकायत के बाद शिक्षा विभाग से विभागीय जांच करवाई। इसमें साल 2013-14 से लेकर 2016-17 तक 2.38 लाख अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति जारी करने के दौरान हुई गड़बड़ी की बात सामने आई।
इस अवधि के दौरान 2772 शिक्षण संस्थानों को छात्रवृत्ति वितरित की गई, जिसमें 266 निजी शिक्षण संस्थान शामिल थे। निजी संस्थानों को 210 करोड़ और सरकारी संस्थानों को 56 करोड़ की राशि दी गई। 2.38 लाख विद्यार्थियों में से 19915 को चार मोबाइल फोन नंबरों से जुड़े बैंक खातों में राशि जारी की गई है।
error: Content is protected (Copyright)