लेट लेडीज टॉक कार्यक्रम में बतौर वक्ता पहुंची शातोविन्स सॉलिटियेर्स पर

सिटी न्यूज़ डेस्क, पंचकूला। अगर आपके स्वाभाव में बदलाव आ रहे और आपको लगता की वो नकारात्मक है तो इस पर गौर करें। ये मेन्टल इलनेस भी हो सकती और बहुत बार लोग इस इगनोर कर देते है, जो की सही नहीं, इसके बारे में बात करें और हो सके तो विशेषज्ञ की मदद लें। ये कहना है हरियाणा पुलिस में एसीपी ममता सोढा का। वीरवार को वो सेक्टर 8 स्थित शातोविन्स सॉलिटियेर्स पर आयोजित टॉक शो “Let Ladies Talk” में बतौर मुख्या वक्ता बोल रही थी।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम लाइफ में बड़ी से बड़ी चीज़ हासिल कर सकते है, बशर्ते हम शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ हों खासकर महिलाएं जो अपने जीवन में कई तरह के रोल अदा करती चाहे है। ऐसे में ये देखा गया के वो शारीरिक और मानसिक रूप से अपने पर काम ध्यान देती। उन्होंने कहा कि अपने आप को रोजाना एक घंटा जरूर दें और वो करे जो आपको पसंद हो चाहे वो गाना बजाना हो या पेंटिंग या कुछ और। जो आपको ख़ुशी दे वो करे। जीवन में नकारात्मक विचारों को न आने दें और याद रखें कि यदि एक रास्ता बंद होता है तो 10 नए रस्ते खुल जाते हैं। अपनी क्षमताओं को पहचाने और संकल्प लें जीवन में इसी सोच के साथ आगे बढ़ना है।
इस मौके पर उन्होंने अपने जीवन के चैलेंजेज के बारे में भी बात की। साथ ही ये भी बताया की माउंट एवेरेस्ट चढ़ने का मुकाम हासिल करने में भी किन कठिनाइयों का उन्होंने सामना किया। बता दें कि एसीपी ममता सोढा ने 2010 में माउंट एवेरेस्ट की चढ़ाई की थी और इसके लिए उन्हें पदम् श्री पुरुस्कार भी भारत सरकार दे चुकी है। उनके नाम कई अन्य उपलब्धियां भी हैं।
कार्यक्रम के दौरान शातोविन्स सॉलिटियेर्स के CEO अमित जैन ने कहा कि एसीपी ममता सोढा हज़ारों लोगों के लिये एक इंस्पिरेशन हैं और हम सबको उनसे सीख लेते हुए जो कुछ उन्होंने कहा उससे अपने जीवन में अमल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेन्टल इलनेस एक बहुत सेंसिटिव विषय है और इससे गंभीरता से लेते हुए इससे निपटना चाहिये।