Chandigarh

बल्ले-बल्ले हो गई अब अलाटियों की. खाली प्लाटों के एवज में मिली एक्सटेंशन, पर नहीं बढ़े रेट

पंचकूला के इस्टेट आफिसर आशुतोष राजन का भी रहा है विशेष योगदान
सिटी न्यूज7
पंचकूला। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने अलाटियों की बल्ले-बल्ले करा दी है। बल्ले-बल्ले उन अलाटियों की जो किसी कारणवश अपने प्लाटों पर अभी तक कंस्ट्रक्शन नहीं कर पाए और रिजम्पशन के नोटिसों की टेंशन ले रहे थे। अब टेंशन खत्म।
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री मनोहर लाल, जो कि प्राधिकरण के चेयरमैन भी हैं, की अध्यक्षता में लिए गए फैसले के तहत प्राधिकरण अब अलाटियों को एक्सटेंशन फीस का 5वें ब्लाक का लाभ देगा। यानी पंचकूला में जो अलाटी खाली प्लाट और कंस्ट्रक्शन करना चाहेगा उसे 13वें, 14वें, 15वें साल के लिए  भी 200 रुपये प्रति मीटर की दर से ही एक्सटेंशन फीस देनी पड़ेगी , पर इसमें 100 वर्ग मीटर तक के प्लाट शामिल नहीं होंगे।  पिछली सरकार में पारित पालिसी के तहत यही फीस 12वें साल में 200 प्रति मीटर आगे हर साल डबल देनी पड़ती। जो मल्टीप्लाई होने के बाद कई अलाटियों पर प्लाट की एक्चुअल कीमत से भी ज्यादा तक जा पहुंची थी। अब वो झंझट नहीं रहेगा। अलॉटी भले चौदवें या पंद्रहवें साल में कंस्ट्रक्शन करे उसे 200 रुपये के हिसाब से ही भुगतान देना पड़ेगा।
गौरतलब है कि अलाटियों को एक्सटेंशन फीस के मामले में राहत दिलाने के लिए पंचकूला बेस्ड हरियाणा प्रापर्टी डीलर्स वेलफेयर एसोसिएशनकी तरफ से प्रेसिडेंट सुरेश अग्रवाल काफी समय से प्रयास कर रहे थे। उन्होंने मुख्य प्रशासक से लेकर मुख्यमंत्री तक को चिट्ठियां लिखीं। अब अंतत: मनोहर लाल की सरकार ने अलाटियों को बड़ा तोहफा दे दिया है।