कालका क्षेत्र को औद्योगिक पिछड़ा क्षेत्र घोषित करने से नहीं होगा कोई लाभ : बंसल

कालका। शिवालिक विकास मंच के अध्यक्ष विजय बंसल ने कहा कि हरियाणा सरकार ने कालका क्षेत्र को आद्योगिक पिछड़ा क्षेत्र घोषित करने की घोषणा की है इससे कालका क्षेत्र को रती भर भी लाभ नहीं होगा क्योकि गत वर्षो में सभी सरकारों ने कालका क्षेत्र को औद्योगिक पिछड़ा क्षेत्र घोषित किया था कालका क्षेत्र में 1952 न्यू पंजाब कैपिटल परफेरी एक्ट लागु है। बंसल ने बताया कि यदि वास्तव में सरकार इस क्षेत्र में औद्योगिक विकास करना चाहती है युवाओ को रोजगार देना चाहती है तो सरकार सबसे पहले कालका क्षेत्र में 1952 न्यू पंजाब कैपिटल परफेरी एक्ट समाप्त करे। जबकि 9 अप्रैल 2015 को कालका की जनसभा में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने कालका क्षेत्र में 1952 न्यू पंजाब कैपिटल परफेरी एक्ट समाप्त करने के लिए कमेटी बनाने की घोषणा की थी परन्तु अब तक कोई कार्यवाही नही हुई जब तक इस क्षेत्र में औद्योगपतियो को वैट बिक्रीकर आदि अन्य सभी करो पर छूट नहीं दी जाती तथा बिजली सस्ते दामो पर उपलब्ध नही कराई जाती तब तक इस क्षेत्र में कोई विकास नही हो सकता। वही पडोसी राज्य हिमाचल में बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में औद्योगिक पैकेज एवं अन्य  सुविधाओ के कारण विकास हुआ है। हरियाणा के अधिकतर उद्योग हिमाचल में पलयन कर गए है। गत वर्षो से शिवालिक विकास मंच शिवालिक क्षेत्र को हिमाचल उत्तराखंड की भांति औद्योगिक पैकेज देने की मांग कर रहा है। पूर्व की कांग्रेस सरकार ने शिवालिक क्षेत्र को औद्योगिक पैकेज देने की घोषणा की परन्तु कार्यवाही नहीं हुई।

error: Content is protected (Copyright)